अगले 10 साल में भारतीय रेलवे दुनिया की पहली ग्रीन रेलवे होगी : गोयल
July 26, 2019 • आशीष/Abhishek Verma

Union Minister for Railways Piyush Goyal

नई दिल्ली। मोदी सरकार में रेलमंत्री पीयूष गोयल ने ऊर्जा संरक्षण के क्षेत्र में भारतीय रेलवे के प्रयासों के बारे में बताते हुए कहा कि अगले 10 साल के भीतर इसके 'ग्रीन रेलवे' बनने का दावा किया है। गोयल ने शुक्रवार को बताया कि 2022 तक देश में सभी ब्रॉडगेज रेल लाइन का विद्युतीकरण हो जाएगा। उन्होंने बताया कि रेल सेवा का संचालन शत प्रतिशत बिजली से करने के बाद भी सीमावर्ती इलाकों और आपात स्थिति में डीजल से चलने वाली रेल सेवा बरकरार रह जाएगी। इसमें भी डीजल की जगह बायोडीजल का इस्तेमाल सुनिश्चित किया जाएगा। इसके अलावा, रेलवे अपनी खाली पड़ी जमीन पर सौर ऊर्जा संयत्र लगा रहा है। इसके बाद रेलवे की जमीन पर अतिक्रमण की समस्या से भी मुक्ति मिलेगी और ऊर्जा जरूरत की पूर्ति में सौर ऊर्जा का इस्तेमाल बढ़ेगा। गोयल ने कहा, 'इन सभी प्रयासों के बलबूते मैं यह महत्वपूर्ण घोषणा कर सकता हूं कि 10 साल के भीतर भारतीय रेलवे दुनिया की पहली शत प्रतिशत 'ग्रीन रेलवे' हो जाएगी। गोयल ने बजट में डीजल पर लगाए गए उपकर के कारण इसकी कीमत बढ़ने से यात्री किराया बढ़ने की संभावनाओं को खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि रेलवे के लगातार बढ़ते विद्युतीकरण की वजह से डीजल की खपत में तेजी से गिरावट आ रही है,इसकारण किराये में बढ़ोतरी की कोई आशंका नहीं है।