अदाणी इंटरप्राइजेज ने विश्व युवा कौशल दिवस के मौके पर व्यवसायिक प्रशिक्षण पूर्ण करने वाले 60 से अधिक छात्रों को सम्मानित किया
July 16, 2019 • Abhishek Verma

अदाणी इंटरप्राइजेज ने विश्व युवा कौशल दिवस के मौके पर व्यवसायिक प्रशिक्षण पूर्ण करने वाले 60 से अधिक छात्रों को सम्मानित किया

  • व्यवसायिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों को पूरा करने के लिए 60 से अधिक छात्रों को सम्मानित किया गया
  • भारत के गावों में युवाओं के कौशल में विकास होने से प्रशिक्षित पेशेवरों की मांग और पूर्ति के बीच का अंतर कम हो जाएगा
  • 70% प्लेसमेंट के ट्रैक रिकॉर्ड के साथ सरगुजा  में अदाणी स्किल डेवलपमेंट सेंटर (कौशल विकास केंद्र) में अब तक 700 छात्रों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है
  • कौशल विकास केंद्र, माइनिंग मैकेनिक फिटर, इलेक्ट्रिशियन, हॉस्पिटालिटी एंड सिलाई मशीन ऑपरेटर्स जैसे कई व्यवसायिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रम ऑफ़र करता है

जुलाई सरगुजा, छत्तीसगढ़:स्थानीय युवाओं में आत्मनिर्भरता लाने और आय बढ़ाने के माध्यम से उनका सशक्तिकरण करने की दिशा में अपने निरंतर प्रयास के चलते, अदाणीइंटरप्राइजेज ने विश्व युवा कौशल दिवस के मौके पर व्यवसायिक प्रशिक्षण पूर्ण करने वाले 60 से अधिक छात्रों को सम्मानित किया। छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिले में साल्ही गावं में अदाणी स्किल डेवलपमेंट सेंटर (एएसडीसी) में प्रशिक्षित, ऐसे पाठ्यक्रम देश में कुशल कर्मचारियों की कमी को पूरा करने में मदद कर रहे हैं, साथ ही सरकार के कौशल विकास मिशन में भी योगदान दे रहे हैं।  संयुक्त राज्य के 'विश्व युवा कौशल दिवस' का उद्देश्य व्यवसायिक शिक्षा व प्रशिक्षण पर ज़ोर देते हुए युवा कौशल विकास के महत्व के प्रति जागरूकता को बढ़ाना है।

यह कार्यक्रम जो कि साल्ही गांव के 100 युवाओं में बदलाव का साक्षी है, इसे राजस्थान के राज्य विद्युत उत्पादन निगम लिमिटेड की कॉर्पोरेट सामाजिक जिम्मेदारी के हिस्से के रूप में आयोजित किया गया था। सरगुजा  के कौशल विकास केंद्र में माइनिंग मैकेनिक फिटर, इलैक्ट्रिशियन और हॉस्पिटालिटी व सिलाई मशीन ऑपरेटर जैसे व्यवसायिक प्रशिक्षण पाठ्यक्रमों में प्रशिक्षित 700 प्लस छात्रों में से 70%  से अधिक छात्रों का प्लेसमेंट होने का एक अनुकरणीय ट्रैक रिकॉर्ड है।

साल्ही के अदाणी स्किल डेवलपमेंट सेंटर में नामांकित एक छात्र राधा ने कहा “मैं अदाणी स्किल डेवलपमेंट सेंटर को धन्यवाद देना चाहूंगी जिसने मुझे जॉब- ओरिएंटेड स्किल सेट प्रशिक्षण द्वारा नौकरी करने योग्य बनाया। यह समर्थन मिलने से, मुझे सीएमवी ग्लोबल में सम्मानीय वेतन पर नौकरी मिली है और इससे मुझमें बहुत-सा आत्मविश्वास आ गया है।,”

अदाणी फ़ाउंडेशन, अदाणी समूह की सीएसआर शाखा ने ऐसी कौशल विकास गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित किया है जो राष्ट्र का निर्माण करने में योगदान देती हैं। इनके 'सक्षम'कार्यक्रम का उद्देश्य भारतीय युवाओं को कौशल पेशेवर बनाकर उनके जीवन में उन्हें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने हेतु योग्य बनाना है। कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय की 2015 की राष्ट्रीय नीति के अनुसार, भारत को 2022 तक संपूर्ण विभिन्न क्षेत्रों में 110 मिलियन अतिरिक्त कुशल कर्मचारियों की आवश्यकता होगी।

अदाणी फाउंडेशन में अदाणी कौशल विकास केंद्र के प्रोजेक्ट कॉर्डिनेटर मधुर दुबे ने कहा, “अदाणी स्किल डेवलपमेंट सेंटर पर यह हम सभी के लिए बेहद गर्व की बात है कि हमारे छात्र भारत भर में कंपनियों में प्लेसमेंट ले रहे हैं। हम इस क्षेत्र के युवाओं के कौशल को बढ़ाने में अपना कार्य कर रहे हैं और इस तरह उनके जीवन को बेहतर बना रहे हैं।”

अदाणी स्किल डेवलपमेंट सेंटर भारत के 8 राज्यों में संपूर्ण 65 केंद्रों में 45 से अधिक पाठ्यक्रमों का ऑफ़र देता है। इस केंद्र ने 30,000 से अधिक युवाओं को प्रशिक्षित किया है और सशक्त कर रहा है जिससे वे आत्मनिर्भर बन सके और केंद्र ने 2022 तक 300,000 से अधिक युवाओं को प्रशिक्षित करने का महत्वकांशी लक्ष्य तय किया है।