नए स्कूल भवन के उद्घाटन के साथ अदाणी फाउंडेशन ने ज्ञान की रोशनी फैलायी
July 4, 2019 • Abhishek Verma

Mulloor UP pic

जुलाई 4, 2019: अदाणी फाउंडेशन ने केरल के विजिनजाम में मुल्‍लूर उच्च प्राथमिक विद्यालय के नवनिर्मित भवन का उद्घाटन किया। इस अवसर पर स्कूल परिसर में आयोजित एक समारोह में राज्य के शिक्षा मंत्री प्रो. सी. रवींद्रनाथ और बंदरगाह राज्य मंत्री श्री रामचंद्रन कदनापल्ली उपस्थिति रहे।

एक साल पहले, स्कूल प्रशासन, जिला प्रशासन और अदाणी फाउंडेशन ने साथ मिलकर संकटग्रस्‍त स्कूल को उसका पुराना गौरव वापस दिलाया था। अदाणी फाउंडेशन ने छात्रों को गुणवत्ता वाले बुनियादी ढांचा प्रदान करने के लिए दो मंजिला स्कूल भवन का निर्माण किया, जो ज्ञानार्जन की प्रक्रिया का अभिन्न अंग है। इसके परिणामस्वरूप, स्कूल में छात्रों की संख्‍या अब 168  हो गई है।

“अदाणी फाउंडेशन का मानना है कि शिक्षा गरिमा और समानता के साथ जीवन जीने के लिए उठाया गया पहला कदम है। जब हम प्रभावी ज्ञानार्जन के लिए सक्षम करने वाला सुविधाजनक वातावरण बनाते हैं, तो हम अपने बच्चों को राष्ट्र निर्माण की दिशा में भावी प्रयासों के लिए तैयार करते हैं,” डॉ. प्रीति अदाणी, चेयरपर्सन, अदाणी फाउंडेशन ने कहा।

अदाणी स्कूल और इसके अभिनव शिक्षा कार्यक्रम, हर साल हजारों युवाओं को उच्च प्रतिस्पर्धा वाली दुनिया की चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना करने और उज्ज्वल भविष्य को सुरक्षित करने के लिए तैयार कर रहे हैं।

अहमदाबाद (गुजरात), भद्रेश्वर (गुजरात) और सरगुजा (छत्तीसगढ़) में अदाणी विद्या मंदिर निम्न आय वर्ग के परिवारों के 2100 बच्चों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करते हैं। इन स्कूलों में अत्याधुनिक बुनियादी ढांचा और काफी योग्य शिक्षक कार्यरत हैं।

मुंद्रा (गुजरात) में अदाणी पब्लिक स्कूल, तिरोरा (महाराष्ट्र) और कवाई (राजस्थान) में अदाणी विद्यालय, धामरा (ओडिशा) में अदाणी डीएवी पब्लिक स्कूल और हजीरा (गुजरात) में नवचेतन विद्यालय सहायता प्राप्‍त गुणवत्ता शिक्षा प्रदान करते हैं।

अदाणी विद्या मंदिर, अहमदाबाद (एवीएमए) भारत का पहला लागत-मुक्‍त शिक्षा देने वाला विद्यालय है जिसे भारतीय गुणवत्ता परिषद द्वारा एनएबीईटी मान्‍यता प्राप्त है। इसके अलावा, एवीएमए भारत का एकमात्र स्कूल है जिसने कोडिंग सैंडपिट को अपने नियमित पाठ्यक्रम में शामिल किया है। संयोगवश, अदाणी पब्लिक स्कूल, मुंद्रा सौराष्ट्र और कच्छ क्षेत्र में पहला एनएबीईटी मान्यता प्राप्त स्कूल है।

अदाणी फाउंडेशन ज्ञानोदय स्मार्ट ई-लर्निंग कक्षाओं जैसे अभिनव शिक्षण कार्यक्रमों को बढ़ावा दे रहा है, जिसने झारखंड के गोड्डा जिले के 157 ग्रामीण स्कूलों में शिक्षण और सीखने की गुणवत्ता में सुधार किया है। एक वर्ष के भीतर, कक्षा 9 के परिणामों के मामले में गोड्डा जिला ने राज्य के निचले सात जिलों से ऊपर आकर शीर्ष पांच जिलों में अपना स्‍थान बना लिया है।

इसके अलावा, अदाणी फाउंडेशन देश भर में 600 सरकारी स्कूलों और बालवाड़ियों को सहायता प्रदान कर 100,000 बच्चों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित कर रहा है।