नोबल अस्पताल की शिकायत पहुंची मुख्यमंत्री कमलनाथ तक
July 3, 2019 • Abhishek Verma

Bhopal July 4, 2019 

-भोपाल के मिसरोद में स्थित नोबल अस्पताल द्वारा पीड़िता कृष्णा सोलंकी बच्चा चोरी का मामला लेकर पहुंची मुख्यमंत्री आवास, माननीय कमलनाथ जी से की मुलाकात साथ ही शिव सेना के विपिन तिवारी भी उपस्थित रहे

-माननीय मुख्यमंत्री जी ने कहा "इस मामले की जांच होगी और आपको न्याय मिलेगा, जो भी सच होगा सामने लाया जाएगा और कार्यवाही होगी"

-पीड़िता कृष्णा सोलंकी का कहना है " यदि कार्यवाही नहीं होती है तो मै धरने पर बैठूंगी और माननीय प्रधानमंत्री मोदी जी तक न्याय मांगने जाऊंगी"

क्या है पूरा मामला विस्तार में बताते हैं

पीड़िता कृष्णा सोलंकी ने मिसरोद पुलिस थाने मे 19 June को दिए गए अपने शिकायती आवेदन में बताया था कि उनके साथ नोबल हॉस्पिटल के डॉक्टरों ने अमानवीय कार्य किया है। मेरे पेट में 9 माह का बच्चा होने के बाद भी परिवारजनों की बिना सहमति के ऑपरेशन किया। अब डॉक्टर कह रहे है कि तुम्हारे पेट में बच्चा था ही नहीं। इससे घटना से मेरे पति और परिवाजन मानसिक रूप से आहत हैं । जब बच्चा ही नहीं था तो डॉक्टर बच्चा होने की बात क्यों कर रहे थे। उन्होंने बताया कि यह राज तब खुला जब आपरेशन के बाद परिवार ने पीड़िता की सोनोग्राफी इंदौर में कराई। जांच में सामने आया कि बच्चा दानी के टयूब को नोबल अस्पताल ने ऑपरेशन कर नुकसान पहुंचाया है। इससे साबित होता है कि पेट में बच्चा था। उन्होंने आवेदन में लिखा था कि यदि बच्चा नहीं था तो 9 माह तक मुझे घुमाने वाले नोबल हॉस्पिटल के डॉक्टरों पर कार्रवाई हो।