भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा बिहार के मधुबन, पिपरा, बेतिया और सिवान में आयोजित जनसभा में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु
May 7, 2019 • Daily Canon Times
भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा बिहार के मधुबन, पिपरा, बेतिया और सिवान में आयोजित जनसभा में दिए गए उद्बोधन के मुख्य बिंदु

  • गठबंधन वाले देश को सुरक्षित नहीं कर सकते हैं. बिहार में लालू, राबड़ी के शासन में लोगों ने जंगलराज देखा है. नितीश जी और सुशील मोदी के आने के बाद बिहार विकास के रास्ते पर चल पड़ा है. भाजपा सरकार ने बिहार को जंगलराज से जनताराज में बदलने का काम किया है.
  • सिवान कभी आजादी के आंदोलन का प्रेरणा स्थल था, यहां आजादी के आंदोलन का भविष्य तैयार होता था, उस सिवान को तहस-नहस करने का काम शहाबुद्दीन ने किया है, उसने सिवान के कई लोगों को अपने स्वार्थ के लिए मौत के घाट उतारा है.
  • मैं सिवान के लोगों को पूछना चाहता हूं कि आपको विकास का राज चाहिए या जंगलराज? शहाबुद्दीन का आतंक चाहिए या नरेन्द्र मोदी जी और नीतीश कुमार का सुशासन चाहिए? गठबंधन वालों ने भय का माहौल बनाकर यहां के विकास को रोकने का काम किया है.
  • जब लालू-राबड़ी का और राहुल बाबा के परिवार का शासन चलता था, तब गरीब इलाज कराने के लिए बेबस था. गरीब के पास इलाज के लिए पैसे नहीं होते थे. आज आयुष्मान भारत योजना से देश के करीब 24 लाख लोगों का मुफ्त इलाज कराने का काम भाजपा की मोदी सरकार ने किया है.
  • वर्षों से पिछड़े वर्ग की मांग थी कि उन्हें संवैधानिक सम्मान मिलना चाहिए. लेकिन कांग्रेस, आरजेडी ने कुछ नहीं किया. मोदी जी की सरकार ने पिछड़े वर्ग के सम्मान के लिए पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने का काम किया है.
  • सवर्ण समाज के गरीब बच्चे आरक्षण की मांग कर रहे थे उनको आरक्षण नहीं मिलता था. पिछड़ा समाज और दलितों का आरक्षण कम किए बगैर सवर्ण समाज के सभी बच्चों को 10% आरक्षण देने का काम भाजपा की नरेन्द्र मोदी सरकार ने किया.
  • केंद्र की मोदी सरकार ने बिहार में आईआईटी, आईआईएम, निफ्ट, दूसरा एम्स, मेडिकल कॉलेज देने के साथ ही गैस पाइप लाइन और ढेर सारे विकास कार्य किए हैं.
  • 10 साल यूपीए की सरकार थी, लालू-राबड़ी भी इसमें सहयोगी थे. इन्होंने 13वें वित्त आयोग में 1 लाख 93 हजार करोड़ रुपये बिहार को दिये थे. एनडीए की सरकार ने पांच साल में 6 लाख 6 हजार करोड़ से भी ज्यादा का आवंटन बिहार के विकास के लिए किया है.
  • मोदी जी ने 20 साल में एक भी छुट्टी नहीं ली है, 20 साल में 24 में से 18 घंटे काम करने वाले व्यक्ति हैं नरेन्द्र मोदी. दूसरी तरफ गठबंधन के नेता राहुल गांधी हैं, थोड़ी गर्मी बढ़ी नहीं की राहुल बाबा विदेश चले जाते हैं.
  • कांग्रेस कह रही है कि एनआरसी मत लाइए, मैं आप से कहने आया हूं कि एक बार नरेन्द्र मोदी सरकार बना दो कश्मीर से कन्याकुमारी और असम से गुजरात तक घुसपैठियों को चुन-चुनकर निकालने का काम भाजपा करेगी.
  • भाजपा कहती है कि कश्मीर से धारा 370 हटाओ और राहुल बाबा कहते हैं कि देशद्रोह की धारा हटाओ. राहुल बाबा, लालू-राबड़ी को जो कहना हो कहें, नरेन्द्र मोदी जी के शासन में जो भारत माता के टुकड़े करने की बात करेगा, उसकी जगह जेल की सलाखों के पीछे होगी.
  • जब पुलवामा में हमारे 40 जवान शहीद हुए थे और उसके बाद जब वायुसेना द्वारा एयरस्ट्राइक किया गया तो पूरे देश में उत्साह का माहौल था. तब 2 जगह मातम मनाया जा रहा था. एक तो पाकिस्तान में और दूसरा कांग्रेस पार्टी और लालू-राबड़ी के दफ्तर में, जहाँ इन लोगों का मुंह लटका हुआ था.
  • उमर अब्दुल्ला कहते हैं कि जम्मू कश्मीर का अलग प्रधानमंत्री होना चाहिए. कुछ दिन पहले उनके एक नेता ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे. इन सब बातों पर कांग्रेस ने चुप्पी साध रखी है, लालू-राबड़ी ने चुप्पी साध रखी है. ये लोग स्पष्ट करें की क्या वो इन बयानों पर उमर अब्दुल्ला के साथ हैं?
  • आतंकवादियों के साथ इलू-इलू करने की नीति कांग्रेस पार्टी और आरजेडी की हो सकती है, भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार की नहीं. अगर सीमापार से गोली आएगी तो इधर से गोला जायेगा. हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे.

 

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज बिहार के मधुबन, पिपरा, बेतिया और सिवान में विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि पूरे देश में 290 से ज्यादा लोकसभा क्षेत्रों का मैंने दौरा किया है. देश के अलग-अलग हिस्सों में जब मैं गया तो भाषाएं बदली, पहनावा बदला, खानपान बदला लेकिन एक नारा नहीं बदला, वो नारा है मोदी-मोदी. इससे तय होता है कि देश की जनता ने नरेन्द्र मोदी जी को फिर से प्रधानमंत्री बनाने का संकल्प लिया है. ये नारे देश की जनता इसलिए लगा रही है कि 70 साल से देश जिस शासन की राह देख रहा था, वो शासन मोदी जी की सरकार ने दिया है. कांग्रेस सरकार पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि 55 साल तक देश में कांग्रेस का शासन था, 15 साल तक बिहार में लालू-राबड़ी का जंगलराज था, इन वर्षों में बिहार के लिए क्या हुआ? मोदी जी की सरकार बनने के बाद देश के 50 करोड़ गरीबों के लिए मोदी जी ढेर सारी योजनाएं लेकर आए हैं. गठबंधन वाले देश को सुरक्षित नहीं कर सकते हैं. बिहार में लालू, राबड़ी के शासन में लोगों ने जंगलराज देखा है. नितीश जी और सुशील मोदी के आने के बाद बिहार विकास के रास्ते पर चल पड़ा है. जब लालू-राबड़ी का और राहुल बाबा के परिवार का शासन चलता था, तब गरीब इलाज कराने के लिए बेबस था. गरीब के पास इलाज के लिए पैसे नहीं होते थे. आज आयुष्मान भारत योजना से देश के करीब 24 लाख लोगों का मुफ्त इलाज कराने का काम भाजपा की मोदी सरकार ने किया है. श्री शाह ने कहा कि 10 साल यूपीए की सरकार थी तो 13वें वित्त आयोग में 1 लाख 93 हजार करोड़ रुपये बिहार को दिये थे. एनडीए की सरकार ने पांच साल में 6 लाख 6 हजार करोड़ से भी ज्यादा का आवंटन बिहार के विकास के लिए किया है. केंद्र की मोदी सरकार के विकासकार्यों पर श्री अमित शाह ने कहा कि प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत 7 करोड़ गरीब महिलाओं को मुफ्त गैस सिलिंडर, 8 करोड़ शौचालयों का निर्माण, 2.5 करोड़ गरीबों को घर, सवर्ण गरीब छात्रों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण, 2 करोड़ 35 लाख लोगों को बिजली, 50 करोड़ गरीबों को आयुष्मान भारत के तहत 5 लाख तक का मुफ्त इलाज देने का काम मोदी सरकार ने किया है. भारतीय जनता पार्टी के संकल्प पत्र पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि हमने अपना संकल्प पत्र देश के सामने रखा है और ये मात्र घोषणापत्र नहीं है अपितु देश को महान बनाने का दस्तावेज है इसमें देश के सभी किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना, छोटे तथा खेतिहर किसानों की सामाजिक सुरक्षा के लिए 60 वर्ष की उम्र के बाद पेंशन की योजना, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योगों के लिए 1 लाख करोड़ रुपए की क्रेडिट गारंटी योजना, हर जिले में एक मेडिकल कॉलेज या परास्नातक मेडिकल कॉलेज की स्थापना जैसे महत्वपूर्ण प्रावधान हैं. कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए उन्होंने कहा कि जब पुलवामा में हमारे 40 जवान शहीद हुए थे और उसके बाद जब वायुसेना द्वारा एयरस्ट्राइक किया गया तो पूरे देश में उत्साह का माहौल था. तब 2 जगह मातम मनाया जा रहा था. एक तो पाकिस्तान में और दूसरा कांग्रेस पार्टी और लालू-राबड़ी के दफ्तर में, जहाँ राहुल बाबा और लालू का मुंह लटका हुआ था. कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि राहुल गाँधी के गुरु सैम पित्रोदा कहते हैं कि आतंकवादियों से बात करो. कुछ बच्चों के कारण पूरे पाकिस्तान को क्यों प्रताणित करते हो. श्री शाह ने कहा कि आतंकवादियों के साथ इलू-इलू करने की नीति कांग्रेस पार्टी की हो सकती है, भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार की नहीं. अगर सीमापार से गोली आएगी तो इधर से गोला जायेगा. हम ईंट का जवाब पत्थर से देंगे. उमर अब्दुल्ला के दो प्रधानमंत्री वाले बयान पर श्री अमित शाह ने कहा कि उमर अब्दुल्ला कहते हैं कि जम्मू कश्मीर का अलग प्रधानमंत्री होना चाहिए. कुछ दिन पहले उनके एक नेता ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे. इन सब बातों पर कांग्रेस ने चुप्पी साध रखी है. राहुल गांधी स्पष्ट करें की क्या वो इन बयानों पर उनके साथ हैं? चाहे भारतीय जनता पार्टी विपक्ष में हो या सत्ता में हो वह जम्मू-कश्मीर पर कोई आंच नहीं आने देगी. कश्मीर भारत माता का मुकुट है. कश्मीर हिंदुस्तान का अभिन्न अंग है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के मेनीफेस्टो में देशद्रोह जैसे कानून को हटाने की बात करने वाले कांग्रेस के अध्यक्ष भारत तेरी टुकड़े होंगे वाले बयान करने वालों के साथ खड़े होते हैं और इसे अभिव्यक्ति की आज़ादी बताते हैं. लेकिन भारतीय जनता पार्टी का इसपर स्पष्ट रुख है कि देश तोड़ने की बात करने वालों को जेल जाना ही पड़ेगा. उन्होंने बिहार की जनता से फिर एक बार मोदी सरकार बनाने का आह्वान किया और राज्य के विकास को तीव्र गति देने के लिए फिर एक बार भारतीय जनता पार्टी का समर्थन करने का आग्रह किया.