सोनी सब के शो ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’ में फ़राज़ के रूप में आमिर दलवी की दोबारा एंट्री
July 21, 2020 • Canon Times Bureau

 

सोनी सब के ‘अलादीन: नाम तो सुना  होगा’ की जादुई दुनिया में ज़फर के जुड़वां भाई फ़राज़ का जल्द ही प्रवेश होने जा रहा है। इस फैंटसी शो में हाल ही में एक धमाकेदार ट्विस्ट देखा गया जहां शैतान मल्लिका अम्मी को जिन्न में तब्दील कर देती है और अलादीन को बदनाम करने के लिए उसे बुरे काम करने के लिए मजबूर करती है। 

 

 

 

अपनी मां को मल्लिका की दासी बना हुआ देखकर अलादीन की दुनिया अस्त-व्यस्त हो जाती है। ठीक उसी समय बिलकुल ज़फर की तरह दिखने वाला एक शख्स बग़दाद में प्रवेश करता है। अलादीन और अंगूठी का जिनी ज़फर को देख के हैरान हो जाते हैं, क्योंकि उसे मृत माना जा रहा था। लेकिन कड़ी पूछताछ के बाद फ़राज़ ने अलादीन को अपने परिवार का पेड़ दिखा कर अपनी विश्वसनीयता साबित कर दी। 

 

 

 

फ़राज़ ये खुलासा करता है कि वह और ज़फर जुड़वा भाई थे लेकिन वो उसके जैसा बिलकुल नहीं है। ज़फर द्वारा उसे अपनी ज़िन्दगी की शुरुआत में ही गिरफ्तार कर लिया गया था और उसने अपना ज़्यादा समय जेल में ही बिताया है। लेकिन ज़फर की मृत्यु के साथ ही उसे जेल से रिहा कर दिया गया। फ़राज़, जिसका दिल सोने की तरह शुद्ध है वो मल्लिका में बारे में और ज़्यादा जानने का इच्छुक है क्योंकि वो अपनी जादूगरनी मां से उसके बारे में सुनकर बड़ा हुआ है। मल्लिका की वापसी और अलादीन की दुविधा जानने के बाद, फ़राज़ उसके मिशन में उसकी मदद करने का फैसला करता है।

 

 

 

क्या मल्लिका को हराने के लिए अलादीन को फ़राज़ के साथ हाथ मिलाना चाहिए? क्या फ़राज़ की वापसी के पीछे कोई छुपा हुआ मकसद है।

 

 

 

फ़राज़ की भूमिका निभाने वाले आमिर दलवी ने कहा, "मैं फ़राज़ की भूमिका निभा रहा हूं और एक लंबे समय तक ज़फर के नकारात्मक किरदार को निभाने के बाद, फ़राज़ जैसे किरदार को निभाना एक ताज़ा बदलाव है। फ़राज़ का किरदार ज़फर की तुलना में बहुत ज़्यादा सकारात्मक और विश्वसनीय है। उसका लुक बहुत ही विचित्र और ख़ुशमिज़ाज व्यक्तित्व से भरपूर है। उसका प्रवेश इसे रोमांचक और बहुत ज़्यादा दिलचस्प बनाएगा। लेकिन असली सवाल है कि क्या वो झूठ बोल रहा है, क्या अलादीन उस पर यकीन करेगा। इसलिए अधिक जानने के लिए हमारे साथ जुड़े रहें।"

 

 

 

अलादीन की भूमिका निभाने वाले सिद्धार्थ निगम ने कहा, "अलादीन एक दोराहे पर खड़ा है और वह अपना निर्णय लेने में गलती नहीं कर सकता। हाल ही में मल्लिका ने उसकी अम्मी को जिन्न में बदल दिया और अब उसे मल्लिका द्वारा मजबूर किया जा रहा है कि वो उसके शैतानी मिशन में उसकी मदद करे। ऐसे समय में  ज़फर के जुड़वा भाई फ़राज़ का प्रवेश हुआ है, अलादीन निश्चित नहीं है कि किस पर भरोसा किया जाए। तो हमारे दर्शकों के लिए ये देखना दिलचस्प होगा कि अलादीन आगे क्या करता है।"

 

 

 

#SwitchOnSAB और फ़राज़ की एंट्री से अलादीन की ज़िन्दगी में कैसी चुनौतियां आएंगी, जानने के लिए देखें ‘अलादीन: नाम तो सुना होगा’, हर सोमवार से शुक्रवार रात 9 बजे, सिर्फ सोनी सब पर