स्पोर्ट्सटाइगर के शो ‘क्रिकेट टॉक्स’ में मोंटी पनेसर ने कहा: जेम्स एंडरसन विश्व के सर्वश्रेष्ठ फ़ास्ट बॉलर - मोंटी पनेसर
August 28, 2020 • Canon Times Bureau

जयपुर, अगस्त 2020: इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर ने हाल ही में इंग्लैंड बनाम पाकिस्तान टेस्ट सीरीज की समीक्षा की तथा इंग्लैंड और खास तौर पर जेम्स एंडरसन के प्रदर्शन के बारे में बात की। उन्होंने इंग्लैंड का दौरा करने वाली वर्तमान पाकिस्तान टीम के बारे में भी अपने विचार रखे।

स्‍पोर्ट्सटाइगर के शो ‘क्रिकेट टॉक्‍स विथ मोंटी पनेसर’ में बोलते हुए, इस अंग्रेज क्रिकेटर ने कहा कि “जेम्स एंडरसन शानदार खिलाड़ी रहे हैं। वे चोट लगने से बचे रहते थे और हमेशा विकेट लेने के लिए उतावले रहते थे। अपने इस रवैये के साथ वह अब तक के सर्वश्रेष्ठ तेज गेंदबाज हैं।” उन्होंने आगे कहा कि “इंग्लैंड की टीम अब सोच रही होगी कि वह उनको खेल में कब तक शामिल रख सकती है। इंग्‍लैंड की परिस्थितियों में उनका रिकॉर्ड शानदार रहा है और वह 36 वर्ष की उम्र से 21 के औसत पर ही टिके हुए हैं।"

 

पनेसर ने पाकिस्तान टीम के बारे में अपने विचार साझा किये। उनका मानना ​​है कि टीम में अनुभवहीनता दिखाई देती है। उन्होंने कहा, “यह जानने के लिए कि टेस्ट मैच कैसे जीते जाते हैं, पाकिस्तान की यह टीम अभी भी बहुत युवा है। वे खुद को जीतने की स्थिति में लाते तो हैं लेकिन यह नहीं जानते कि उस जीत पर पकड़ कैसे बनाई जाए।"

 

पनेसर ने हालांकि युवा पाकिस्तानी टीम द्वारा प्रदर्शित लचीलेपन और जिस तरह से उन्होंने तीसरे टेस्ट मैच को बचाया की प्रशंसा की, क्‍योंकि एक समय तो ऐसा लग रहा था कि वे 50 ओवर के अंदर ही सिमट जायेंगे। उन्होंने कहा, “पाकिस्तान टीम का रवैया दर्शाता है कि वे दुनिया की नंबर एक टेस्ट टीम बनना चाहते हैं। मिस्बाह-उल-हक, यूनिस खान और मुश्ताक अहमद के नेतृत्व में इस नई टीम ने तीसरे टेस्ट में अपने नजरिये पर गर्व का प्रदर्शन किया, जो आपने पुरानी पाकिस्तान टीम में नहीं देखा होगा।”

 

पनेसर ने मेहमान टीम की आक्रामक गेंदबाजी पर भी टिप्पणी की और कहा कि “जब विकेट स्विंग या सीम नहीं हो रहा हो तो वे वास्तव में नहीं जानते कि वे कैसे विकेट लेने जा रहे हैं और बल्लेबाजों के भरोसे रह कर गलतियां करना शुरू कर देते हैं। यह कुछ ऐसा है जिसे एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड को देखकर, और यह देखकर सीख सकते हैं कि जब विकेट बहुत कुछ नहीं कर रहा था तो एंडरसन और ब्रॉड ने उस समय कैसे खेला। पाकिस्तान की टीम की ताकत निश्चित रूप से उनकी गेंदबाजी है, न कि उनकी बल्लेबाजी।”

 

पनेसर को लगता है कि जनवरी 2021 में भारत के खिलाफ सीरीज में बेन स्टोक्स की वापसी के बाद यह तय करना मुश्किल होगा कि टीम से किसे हटायें। उन्होंने कहा कि “इंग्लैंड उस स्थिति में ऑलराउंडरों को शामिल करना पसंद करेगा और इस तरह मैं क्रिस वोक्स और बेन स्टोक्स दोनों को खेलते हुए देख सकता हूं। शायद जेम्स एंडरसन या स्टुअर्ट ब्रॉड को स्‍थितियों को देखते हुए ड्रॉप किया जा सकता है।”

 

इस उपमहाद्वीप में इंग्लैंड के दौरे के बारे में बात करते हुए पनेसर ने आगे कहा कि "इंग्‍लैंड की टीम को एक विशेषज्ञ स्पिनर की आवश्यकता हो सकती है।" उन्होंने टीम में आदिल रशिद की वापसी का समर्थन किया और कहा कि “आदिल रशिद एक अच्छे खिलाड़ी हैं। अगर वह डोम बेस की जगह इस सीरीज में खेल रहे होते तो इंग्लैंड पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज को 2-0 से जीत लेता।”

 

पनेसर ने जो रूट की कप्तानी के बारे में पूछे गये सवाल के जवाब में कहा कि "जो रूट एक अच्छे कप्तान हैं लेकिन उनकी महानता तभी तय होगी जब इंग्लैंड एशेज के लिए ऑस्ट्रेलिया के दौरे पर जाएगा। अगर वे ‘द एशेज’जीत लेते हैं तो वह एक महान कप्तान कहे जायेंगे, लेकिन अगर वे नहीं जीत पाते हैं तो मैं उन्हें महान कप्तानों की श्रेणी में नहीं रखूंगा।”