वल्र्ड अर्थ डे पर, स्नेहा वाघ ने कहा, “बिजली हमारी रोजमर्रा की जिंदगी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है।
April 22, 2020 • Canon Times Bureau

पिछले कुछ हफ्तों में, मैंने महसूस किया है कि चूंकि पूरा परिवार घर पर है, इसलिए हम बहुत सारी बिजली की खपत कर रहे हैं। इसलिए, हमने जानबू-हजयकर बिजली बचाने की दि-रु39याा में एक कदम के रूप में हर -रु39यााम बत्ती बंद करने का निर्णय लिया है। उस समय के दौरान, हम अन्य सभी कमरों के एयर कंडी-रु39यानर, पंखे और लाइट बंद कर देते हैं, टीवी सेट और अन्य गैजेट्स से दूर रहते हैं और
हमारे लिविंग रूम में बैठते हैं, एक दूसरे के साथ बोर्ड गेम
खेलते हैं। यह परिवार के साथ एक प्रभावी और उचित समय बिताने करने का एक तरीका भी है। एक तरह से, यह वल्र्ड अर्थ डे, माँ प्रकृति की भलाई के लिए हमारा योगदान है।”
रोहिताश्व गौड़ हमारे साथ बात करते हुए वल्र्ड अर्थ डे पर एक नई प्रणाली का प्रचार करते हैं, “पिछले कुछ व-ुनवजर्याों से पेमेंट और ट्रांजैक्शंस पेपरलेस हो गए हैं, पर अभी भी ऐसे लोग मौजूद हैं जो बिल जमा करने से जुड़े हुए हैं, केवल उन्हें अंततः फेंकने के लिए। अपने घर में एक अभ्यास के रूप में, मैंने सभी को कागज की बर्बादी को रोकने के लिए अनाव-रु39ययक पिं्रट, बिल की काॅपीज़ आदि के लिए ना कहने के लिए -िरु39याक्षित किया है। इसके अलावा, इस वल्र्ड अर्थ डे पर मैं आप सभी से अपील करता हूँ कि कागज के उपयोग में कटौती करें और अपने मौजूदा साधनों के साथ उनका विकल्प खोजें।“
निर्भय वाधवा ने कहा, “पानी हमारे सभी घरेलू कामों का एक
अनिवार्य हिस्सा है। लेकिन हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि जब भी हम पानी का उपयोग करें, तो उसकी खपत में कटौती करें। कुछ ऐसी चीजें हैं जिनका मैं पालन करता हूँ, जिससे पानी की बर्बादी कम होती है, जैसे म-रु39याीन में ठंडे पानी से कपड़े धोना, -रु39याॉवर का इस्तेमाल कर नहाना, डि-रु39यावा-रु39यार में बर्तन नहीं सुखाना। इसके अलावा, मैं अपने इनडोर पौधों पर सब्जियों या फलों को धोने वाले पानी का दोबारा इस्तेमाल करता हूँ।“
समता सागर, जो खाना पकाने की -रु39याौकीन हैं, ने कहा, “मु-हजये लगता है कि अप-िरु39या-ुनवजयट प्रबंधन की सख्त जरूरत है, खासकर जब बात प्लेट में छोड़े गए भोजन की हो। कई बार, हम थोड़ा अतिरिक्त खाना पकाते हैं, जो केवल कूड़ेदान या फ्रिज में जाता है। इस तरह की बर्बादी से बचने के लिए, हमने छोटे बर्तन रखे हैं, जो हमें बचे हुए भोजन को खाद में बदलने में मदद करते हैं। इसके बाद हम अपने किचन गार्डन में पौधों को पो-ुनवजयाण देने के लिए इसका उपयोग करते हैं। इसव वल्र्डअर्थ डे पर, मैं आप सभी से किसी भी प्रकार की बर्बादी को सीमित करने का अनुरोध करती हूँ।”

सारिका बहरोलिया ने वल्र्ड अर्थ डे पर अपने विचार सा-हजया करते हुए कहा, “मेरे घर पर हर कोई चीजों का दोबारा उपयोग कर कम कचरा करने में विश्वास करता है। इसके अलावा, हमने डिस्पोजेबल उत्पादों, जैसे कि पेपर प्लेट, कप, नैपकिन और कटलरी से भी बचने का सचेत निर्णय लिया है। हमने अखबारों से बक्से भी बनाए हैं और एक तरफा छपे पत्रों को एक किताब में बदल दिया है। सभी से अनुरोध करें कि वे पर्यावरण को स्वच्छ और सुरक्षित रखने के लिए, और दैनिक गतिविधि के रूप में अभ्यास करने के लिए जो कुछ भी कर सकते हैं, उसका पालन करें।”